Latest

10/recent/ticker-posts

NEW SHAYARI IN ENGLISH AND HINDI | BEST EVERGREEN HINDI SHAYARI |

                       

                                         

NEW SHAYARI IN ENGLISH AND HINDI | BEST EVERGREEN HINDI SHAYARI |




कौन कहता है कि दिल सिर्फ सीने में होता है
तुझको लिखूँ तो मेरी उंगलियाँ भी धड़कती है



💟💟💟💟💟💟



नादानियाँ झलकती हैं अभी भी मेरी आदतों से
मैं खुद हैरान हूँ के मुझे इश्क़ हुआ कैसे




💟💟💟💟💟💟



ना पेशी होगी, न गवाह होगा,
अब जो भी हमसे उलझेगा बस सीधा तबाह होगा



💟💟💟💟💟💟



इश्क कर लीजिए बेइंतेहा किताबो से..
एक यही ऐसी चीज़ है जो अपनी बातों से पलटा नही करती



💟💟💟💟💟💟



इश्क़ हारा है तो दिल थाम के क्यों बैठे हो,
तुम तो हर बात पर कहते थे कोई बात नहीं




💟💟💟💟💟💟



वो करते हैं बात इश्क़ की,

पर इश्क़ के दर्द का उन्हें एहसास नहीं,


इश्क़ वो चाँद है जो दिखता तो है सबको,

पर उसे पाना सब के बस की बात नही




💟💟💟💟💟💟



अपनी शख्शियत की क्या मिसाल दूँ यारों
ना जाने कितने मशहूर हो गये
मुझे बदनाम करते करते



💟💟💟💟💟💟



वो कहता है की बता तेरा दर्द कैसे समझू 
मैंने कहा की इश्क़ कर और कर के हार जा



💟💟💟💟💟💟



उसके सिवा किसी और को चाहना मेरे बस में नहीं,
ये दिल उसका है, अपना होता तो बात और थी



💟💟💟💟💟💟




इश्क ने कब इजाजत ली है आशिक़ों से
वो होता है, और होकर ही रहता है



💟💟💟💟💟💟



वो मेरी न हुई तो ईसमेँ हैरत की कोई बात नहीँ ,
क्योँकि शेर से दिल लगाये बकरी की ईतनी औकात नही



💟💟💟💟💟💟



रहना यूं तेरे खयालों मे.. ये मेरी आदत है,
कोई कहता इश्क … कोई कहता इबादत है



💟💟💟💟💟💟



तू ही बता ए दिल कि तुझे समझाऊं कैसे,
जिसे चाहता है तू उसे नज़दीक लाऊँ कैसे,
यूँ तो हर तमन्ना हर एहसास है वो मेरा,
मगर उस एहसास को ये एहसास दिलाऊं कैसे



💟💟💟💟💟💟



कत्ल किया था जिसने मेरी मासूम मुहब्बत का
वो बा-इज़्ज़त बरी है
और हम इश्क़ करके सारे शहर के गुनहगार हो गये



💟💟💟💟💟💟



रोज आ जाता है दर दिल पर दस्तक देने
एक शख्स जिस को मैंने कभी बुलाया ही नहीं



💟💟💟💟💟💟





इश्क़ के चर्चे भले ही सारी दुनिया में होते होंगे,

पर दिल तो ख़ामोशी से ही टूटते हैं



💟💟💟💟💟💟



ना जाने कौन सी दौलत हैं कुछ लोगों के लफ़्जों में,
बात करते हैं तो दिल ही खरीद लेते हैं



💟💟💟💟💟💟



तेरे ख़त में इश्क की गवाही आज भी है,
हर्फ़ धुंधले हो गए पर स्याही आज भी है


💟💟💟💟💟💟



ना लड़कियों में Interest था, ना पढाई का जज्बा था,
बस 3-4 यार मिल जाते और Last बेंच पर कब्जा था




💟💟💟💟💟💟



किसी को इश्क़ की अच्छाई ने मार डाला,
किसी को इश्क़ की गहराई ने मार डाला,
करके इश्क़ कोई ना बच सका,
जो बच गया उसे तन्हाई ने मार डाला



💟💟💟💟💟💟



दिल में अब यूँ तेरे भूले हुये ग़म आते हैं,
जैसे बिछड़े हुये काबे में सनम आते हैं



💟💟💟💟💟💟



झुका ली उन्होंने नज़रे जब मेरा नाम आया 
इश्क़ मेरा नाकाम ही सही पर कही तो काम आया


💟💟💟💟💟💟



दिल से करते है मोहब्बत हो या नफरत,
तभी तो यारो के यार है और दुश्मनो के दुश्मन



💟💟💟💟💟💟



दिल इश्क से
बंधा हुआ एक
जिद्दी परिंदा है !
उम्मीदों से ही घायल है
उम्मीदों पर ही जिंदा


💟💟💟💟💟💟



रौशनी में कुछ कमी रह गई हो तो बता देना
ऐ सनम दिल आज भी हाजिर है जलने को



💟💟💟💟💟💟



तुम ज़रा हाथ मेरा थाम के देखो तो सही
लोग जल जायेंगे महफ़िल में , चिरागों की तरह



💟💟💟💟💟💟



तू ही बता ए दिल कि तुझे समझाऊं कैसे,
जिसे चाहता है तू उसे नज़दीक लाऊँ कैसे,
यूँ तो हर तमन्ना हर एहसास है वो मेरा,
मगर उस एहसास को ये एहसास दिलाऊं कैसे



💟💟💟💟💟💟



जहाँ कदर न हो अपनी वहाँ जाना फ़िज़ूल है,
चाहे किसी का घर हो चाहे किसी का दिल



💟💟💟💟💟💟



शब्दों से ही लोगों के दिलों पे राज
किया जाता है,
चेहरे का क्या, वो तो किसी भी
हादसे मे बदल सकता है



💟💟💟💟💟💟



वो साथ होते तो सुधर भी जाते,
छोड़कर उसने हमे आवारा बना दिया




💟💟💟💟💟💟




फिर नही बसते वो दिल जो एक बार उजड़ जाते हैं,
कब्रे जितनी भी सजा लो पर जिन्दा कोई नही होता



💟💟💟💟💟💟



अगर प्यार से कोई फूंक मारे बुझ जायेगे,
नफरत से तो बड़े बड़े तूफ़ान बुझ गए मुझे बुझाने में



💟💟💟💟💟💟



मुहब्बत नहीं है नाम सिर्फ पा लेने का,
बिछड़ के भी अक्सर दिल धड़कते हैं साथ-साथ



💟💟💟💟💟💟



अगर जिंदगी में कुछ पाना है तो,
तरीका बदलो इरादा नहीं



💟💟💟💟💟💟



तेरा नाम था आज अजनबी की जुबान पर,
बात जरा सी थी पर दिल ने बुरा मान लिया



💟💟💟💟💟💟



तुम लौट कर आने की तकलीफ मत करना,
हम एक मोहब्बत दो बार नहीं करते



💟💟💟💟💟💟



दिल से ख़याल-ए-सनम भुलाया न जाएगा,
सीने में दाग़ है कि मिटाया न जाएगा



💟💟💟💟💟💟



जिनके मिज़ाज़ दुनिया से अलग होते है ,
महफ़िलो में चर्चे उनके गज़ब होते है



💟💟💟💟💟💟



काश की खुदा ने दिल शीशे के बनाये होते,
तोड़ने वाले के हाथों में जख्म तो आए होते



💟💟💟💟💟💟



हम दुनिया से अलग नहीं,
हमारी दुनिया ही अलग है



💟💟💟💟💟💟



दिल पागल है रोज़ नई नादानी करता है
आग में आग मिलाता है फिर पानी करता है



💟💟💟💟💟💟



अगर कोई चुप है तो इसका मतलब ये नहीं
की उसे बोलना नहीं आता,
हो सकता है वो थप्पड़ मारने में यकीन रखता हो



💟💟💟💟💟💟



मोहब्बत कभी किसी की इजाज़त की मोहताज नहीं,
ये हमेशा से होती चली आई है,
और हमेशा होती रहेगी



💟💟💟💟💟💟




मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी

नज़रें उस से क्या मिलीं आज खुद कटघरे में हूँ



💟💟💟💟💟💟



दिल पर चोट पड़ी है तब तो आह लबों तक आई है,
यूँ ही छन से बोल उठना तो शीशे का दस्तूर नहीं



💟💟💟💟💟💟




मेरे इश्क़ से मिली है ,,
तेरे हुस्न को ये शौहरत ,

तेरा ज़िक्र ही कहाँ था
मेरी दीवानगी से पहले



💟💟💟💟💟💟



जब खामोश आँखों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
तेरे ही ख्यालों में खोये रहते हैं,
न जाने कब दिन और कब रात होती है



💟💟💟💟💟💟



बरसों से कायम है इश्क़ अपने उसूलों पर,
ये कल भी तकलीफ देता था ये आज भी तकलीफ देता है



💟💟💟💟💟💟



लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,
लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है



💟💟💟💟💟💟





इश्क की गहराईयों में.. खूबसूरत क्या है

एक मैं हूँ, एक तुम हो और ज़रुरत क्या है


💟💟💟💟💟💟



तू चाँद मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशिया हमारा होता।
लोग तुझे दूर से देखा करते और
सिर्फ पास रहने का हक हमारा होता



💟💟💟💟💟💟



खतम हो गई कहानी, बस कुछ अलफाज बाकी हैं
एक अधूरे इश्क की एक मुकम्मल सी याद बाकी है



💟💟💟💟💟💟



कभी हसाता है ये प्यार,
कभी रुलाता है ये प्यार,
हर पल की याद दिलाता है ये प्यार,
चाहो या न चाहो पर आपके होने का,
एहसास दिलाता है ये प्यार



💟💟💟💟💟💟



जाने कब उतरेगा क़र्ज़ उसकी मोहब्बत का
हर रोज आँसुओं से इश्क की किस्त भरते हैँ



💟💟💟💟💟💟



मैं लव हूँ पर मेरी बात तुम हो,
और मैं तब हूँ जब मेरे साथ तुम हो



💟💟💟💟💟💟



नयनों से नैन मिलाकर, महोब्बत का इजहार करूँ
बन कर ओस की बुँदे., जिन्दगी तेरी गुलजार करूँ
संवर जाएगी तेरी मेरी जिन्दगी, इश्क के सफर में
थाम ले तू हाथ मेरा, मैं तेरे हर वादे पे ऐतबार करूँ


💟💟💟💟💟💟



चले गये है दूर कुछ पल के लिए,
मगर करीब है हर पल के लिए,
कैसे भुलायेंगे आपको एक पल के लिए,
जब हो चुका है प्यार उम्र भर के लिए



💟💟💟💟💟💟



खूबसूरत मैं नहीं ये तुम्हारा इश्क़ है
जो नूर बनकर मेरी आँखों से छलकता है



💟💟💟💟💟💟


Post a Comment

0 Comments