Latest

10/recent/ticker-posts

RAAT SHAYARI IN HINDI AND ENGLISH FOR NIGHT LOVER

दोस्तों रात का हमारी ज़िन्दगी में बहुत बड़ा महत्व है, यदि दिन काम करने के लिए बना है तो रात आराम करने के लिए बानी है। लेकिन दोस्तों इश्क़ की दुनिया में यहाँ रात का मंजर ही बदल जाता है,बैचेन,तड़पते हुए दीवानों के लिए ये रात एक साथी बन जाती है,इस रात में कई तरह की शायरी जन्म लेती है, बड़ी शानदार रात शायरी लिखी जाती है ,दोस्तों ऐसी ही रात पर शायरी आज हम आपके लिए लेकर आये है। 


RAAT SHAYARI IN HINDI AND ENGLISH FOR NIGHT LOVER


Raat shayari

मै रोता रहा रात भर मगर फैसला ना कर सका
तू याद आ रही है, या मै याद कर रहा हूँ
Main rota raha raat bhar magar faisla na kar saka
tu yaad aa rahi hai,ya main yaad kar raha hoon


---


हो चुकी रात अब सो भी जाइए
जो है दिल के करीब उनके ख्यालों में खो जाइए
कर रहा होगा कोई इंतज़ार आपका
ख़्वाबों में ही सही उनसे मिल तो आइए
Ho chuki raat ab so bhi jaiye
jo hai dil ke kareeb unke khayalo me kho jaiye
kar raha hoga koi intejaar aapka
khuwabon me hi sahi unse mil to aaiye


---


दिल की किताब में गुलाब उनका था
रात की नींद में ख्वाब उनका था
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा
मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था
Dil ki kitab me gulab unka tha
rat ki neend me khuwab unka tha
kitna pyar karte ho jab humne poocha
mar jayenge tunhare bina ye jabab unka tha


---


कुछ भी बचा न कहने को, हर बात हो गई
आओ कहीं शराब पिएँ रात हो गई
Kuch bhi bacha na kehne ko,har baat ho gai
aao kahi sharab piye raat ho gai


---
Raat ki shayari


अभी तो धुप निकलने के बाद सोया है
सारी रात तुजे याद कर कर के रोया है
Abhi to dhoop nikalne ke baad soya
saari raat tujhe yaad kar-kar ke roya hai


---


रात को जीत तो पाता नहीं लेकिन ये चराग़
कम से कम रात का नुक़सान बहुत करता है
Raat ko jeet to paata nahi lekin ye charag
kam se kam raat ka nuksaan bahut karta hai


---


रात की तन्हाई में तो हर कोई याद कर लेता है
ऐ दोस्त, सुबह उठते ही जो याद आये मोहब्बत उसको कहते है
Raat ki tanhai me har koi yaad kar leta hai
A dost, subah uthate hi yaad aaye mohabbat use kehte hai


---
Chandni raat shayari


पता है तुम्हें मैं बहुत बातें करता हूँ
तुम्हारी चाँद से अक्सर रातों में
Pata hai tumhe main bahut baaten karta hoon
tumhari chaand se aksar raaton me


---


रात का अँधेरा कुछ कह रहा है 
चाँद अपनी चांदनी में बह रहा 
है
रात का अँधेरा संकेत दे रहा 
है
चलो सो जाये ये कह रहा 
है
Raat ka andhera kuch keh raha hai
chaand apni chandani me beh raha hai
raat ka andhera sanket de raha hai
chalo so jaaye ye keh raha hai


---
Shayari on chandni raat


बेचैन इस क़दर था सोया न रात भर
पलकों से लिख रहा था तेरा नाम चाँद पर
Baichen is kadar tha soya na raat bhar
palkon se likh raha tha tera naam chand par


---


चाँद खो चुका है रात से मुलाक़ात में
इधर हम दोनों भी नहीं है होशो-हवाश में
Chaand kho chuka hai raat se mulakaat me
idhar hum dono bhi nahi hosho-havash me


---
2 line shayari on raat



रातों के बाज़ार में दुकान लगा रखी है यादों ने
पर नींद का सारा कारोबार चौपट है
Raaton ke bazar me dukaan laga rakhi yaadon ne
par neend ka sara karobaar choupat hai


---


अँधेरी राते अक्सर, धोखा दे जाया करती है
चुपके से आकर, नींदे ले जाया करती 
है
Andheri raate aksar, dhokha de jaya karti hai
chupke se akar neende le jaya karti hai


---


तेरी मीठी मीठी बातें भी,बड़ा कमाल करती है
रात में सोने नहीं देतीं
Teri mithi-mithi baaten bhi,bada kamal karti hai
raat me sone nahi deti


---
Raat shayari in hindi


वो कह के चले इतनी मुलाक़ात बहुत है
मैंने कहा रुक जाओ अभी रात बहुत है
Wo keh ke chale itni mulakat bahut hai
maine kaha ruk jaoo abhi raat bahut hai


---


चुपके से सामने आ जाते हो तुम
आंखें खुलते ही गायब हो जाते हो तुम
मैं तो तुम्हें दिन-रात याद करता रहता हूं
और यहां पल भर में ही मुझे भूल जाते 
हो तुम
Chupke se saamne aa jate ho tum
aankhe khulte hi gayab ho jaate ho tum
main to tumhe din-rat yaad karta rehta hoon
aur yaha pal bhar me hi mujhe bhool jaate ho tum



---
Raat par shayari



मै रोता रहा रात भर मगर फैसला ना कर सका
तू याद आ रही है, या मै याद कर रहा हूँ
Main rota raha raat bhar magar faisla na kar saka
tu yaad aa rahi hai, ya main yaad kar raha hoon


---


इस गहरी रात में उनकी
याद का झोंका फिर आ गया
हैं खुशनसीब हम बहुत कि
ख़्वाबों में उनसे मिलने का मौका फिर आ गया
Is gehri raat me unki
yaad ka jhonka fir aa gaya
hai khusnaseeb hum bahut ki
khuwabo me unse milne ka mouka fir aa gaya



---


जुगनू सहेज सकते हैं बनना नहीं आता
किसी की रातों को रौशन करना नहीं आता
Jugnoo sahej sakte hai banna nahi aata
kisi ki raaton ko roshan karna nahi aata


---


इस रात में चाँदनी बिखर गयी है सारी
खुदा से बस यही दुआ है हमारी
जितनी प्यारी है सितारों की चमक
उतनी ही प्यारी नींद हो तुम्हारी
Is raat me chandani bikhar gai hai saari
khuda se bas yahi dua hai hamari
jitni pyari hai sitaron ki chamak
utni hi pyari neend ho tumhari


---
Raat shayari urdu



रात को आराम से हूँ मैं न दिन को चैन से
हाए-ऐ-वहशते दिल, हाए हाए दर्द-ए-दिल
Raat ko aaram se hoon main na din ko chain se
hay-a-vehsate dil, hay dard-a-dil


---


सारा दिन लगता है खुद को समेटने मे
फिर रात को उनकी यादों की हवा चलती है
और हम फिर बिखर जाते हैं
Sara din lagta hai khud ko sametne me
fir raat ko unki yaadon ki hava chalti hai
aur hum fir bikhar jaate hai


---


रात का ख्याल डराता है
मुझे तुम्हारी याद दिलाता है
डर है कि कैसे कटेगी ये रात
जब नहीं हो रही तुमसे बात
Raat ka khayal darata hai
mujhe tumhari yaad dilata hai
dar hai ki kaise kategi ye raat
jab nahi ho rahi tumse baat



---


जब रात को आपकी याद आती है
सितारों में आपकी तस्वीर नज़र आती है
खोजती है निगाहें उस चेहरे को
याद में जिसकी सुबह हो जाती है

Jab raat ko aapki yaad aati hai
sitaron me aapki tasveer najar aati hai
khojti hai nigahe us chehre ko
yaad me jiski subah ho jaati hai


---



Post a Comment

0 Comments