NEW TWO LINE SHAYARI IN ENGLISH AND HINDI

 दोस्तों आज हमारे Collection में आपको Two line shayari in hindi,2 line shayari in hindi में मिलेंगी ,आप पढ़े और आनंद ले और अपने Friends को भी share करें 


                                                                     
NEW TWO LINE SHAYARI IN ENGLISH AND HINDI

                                                             

New two line shayari in hindi

मोहब्बत में गुस्सा और शक़ 
वही करता है
जिसमें मोहब्बत कूट-कूट 
के भरी होती है


---


लोग कहते हैं कि प्यार एक ऐसी बीमारी है जिसकी कोई दवा नहीं,
पर बेवफाई एक ऐसी दवाई है जिससे ये बीमारी होती नहीं


---
new two line shayari in urdu


मेरी फूल सी फितरत तेरा काटेंदार वजूद
तो क्यों ना मिलकर हम गुलाब हो जाएं
Meri Phool si fitrat tera kantedar vajood
To kyun na milkar hum gulab ho jaye

---


उन्होंने पलट कर क्या देखा हम फिदा हो गए,
वो हंसे और उनके दांत देख हम नौ दो ग्यारह हो गए


---


तेरी यादें, तेरी बातें, बस तेरे ही फसाने है
हाँ कबूल करते है, कि हम तेरे दीवाने है
Teri Yaade teri baate bas tere hi fasane hai
haan kabool karte hai ki hum tere deewane hai


---


तू कहे तो तेरे इक इशारे पर चांद जमीं पर उतार दूं,
प्यार में गर दगा करे जो तू तेरे सारे दांत तोड़ दूं


---


तुम मेरी वो स्माइल हो,जिसे देखकर,
सब घर वाले मुझ पर शक करते हैं


---


थे जब वो मेरे शहर में तो उनके चर्चे बहुत थे,
अच्छा हुआ चले गए छोड़कर कम्बख्त उनके खर्चे बहुत थे


---


Pyar Me Isliye Bhi Dhokha Khane Lage Hain Log,
Dil Ki Jagah Jism Ko Chahne Lage Hain Log


---


जो थे कभी दिल के करीब वो अब दुश्मन हो गए,
शहर में चर्चा रहा इतना कि हम मशहूर हो गए


---


ऐसा क्या लिखूं के तेरे दिल को तसल्ली हो जाये,
क्या ये बताना काफी नहीं कि मेरी जिंदगी हो तुम


---


बदल गई है सारी दुनिया बस तुम नहीं बदले,
कल भी दर्द दिया करते थे और आज भी दर्द देते हो


---


उनसे कह दो किसी और से मोहब्बत की न सोचे,
एक हम ही काफी हैं उम्र भर चाहने के लिए


---


उस मोड़ से शुरू करनी है फिर से जिंदगी अपनी,
जिस मोड़ पर सब अपने थे और तुम अजनबी


---


सामने बैठे रहो दिल को करार आएगा,
जितना देखेंगे तुम्हे उतना ही प्यार आएगा


---


हर वक्त मिलती रहती है इक अनजानी सी सजा,
मैं कैसे पूछूं तकदीर से की मेरी खता क्या है


---


उनके साथ जीने का एक मौका दे दे, ऐ खुदा
तेरे साथ तो हम मरने के बाद भी रह लेंगे


---


हंसते हुए जख्मों को भुलाने लगे हैं हम,
जमाने के दिए हर इक जख्म को मिटाने लगे हैं हम


---


दावे मोहब्बत के मुझे नहीं आते हैं,
बस एक जान है जब दिल चाहे मांग लो


---


टूटे हुए कांच की तरह चकनाचूर हो गया हूं,
किसी को चुभ न जाऊं, इसलिए सब से दूर हो गया हूं


---


अगर ताल्लुक हो तो रूह से रूह का हो,
Dil तो अक्सर एक दूसरे से भर जाते हैं


---


वफा की चाहत में कुछ इस तरह रह गए,
वक्त बदला, दुनिया बदली और वो भी बदल गए


---


एक लफ्ज़ मोहब्बत का इतना सा फ़साना है,
सिमटे तो दिले-ए-आशिक बिखरे तो ज़माना है


---


मोहब्बत तो दिल से की थी मैंने पर दिमाग उसने लगा दिया,
बेवफा वो खुद थे और इल्जाम मुझ पर लगा दिया


---


प्यार मोहब्बत आशिकी ये बस अल्फाज थे
मगर जब तुम मिले तब इन अल्फाजो को मायने मिले


---
new two line status in hindi


जिंदगी का पहला और आखिरी उसूल सीख लिया हमने,
बेवफा से वफा करने का अंजाम भुगत लिया हमने


---


मैं नींद का शौकीन ज्यादा तो नही,
लेकिन तेरे ख्वाब ना देखूँ तो गुजारा नही होता


---


इक चाहत है तुम्हारे साथ जिंदगी बिताने की,
वरना मोहब्बत तो किसी से भी हो सकती थी


---


हाथ पर हाथ रखा उसने तो मालूम हुआ,
अनकही बात को किस तरह सुना जाता है


---


उनका तो काम था दिल लगा के चल देना,
हम नादान थे जो इक शाम की मुलाकात को जिंदगी समझ बैठे


---


अच्छा लगता है तेरा नाम मेरे नाम के साथ,
जैसे कोई खुबसूरत जगह हो हसीन शाम के साथ


---


आया ही था ख्याल उनका और आंखों से आंसू टपक पड़े,
कितना अजीब रिश्ता है आंसू और उनकी यादों का


---


तुम मुझे कभी दिल से कभी आँखों से पुकारो,
ये होंठों के तकल्लुफ तो ज़माने के लिए हैं


---


ख्वाब मेरा भी था संग तेरे जिंदगी जीने का,
तू दूर इतनी चली गई कि ख्वाब मेरा अधूरा रह गया


---


तुझे ख्वाबो में पाकर दिल का करार खो जाता है,
जितना रोकूँ खुद को तुझ से प्यार हो ही जाता है


---


मैंने जब भी जाने की इजाजत मांगी,
उन्होंने हां कहकर नजरों से रोक दिया


---


लफ्ज-ए-शायरी तो शायर ही जानें…
मुझें रूहानी इश्क़ है तुमसे मैं तो बस इतना जानू


---


ये कैसा सिलसिला है तेरे मेरे दरमियां,
फासले बहुत हैं पर मुहब्बत काम नहीं होती


---


चल चलें किसी ऐसी जगह जहाँ कोई न तेरा हो न मेरा हो,
इश्क़ की रात हो और…बस मोहब्बत का सवेरा हो


---


किस-किस से छुपाऊं मैं किस्सा अपनी मोहब्बत का,
मेरी आंखों से लेकर मुस्कुराहट में तुम ही नजर आते हो


---


रोज वो ख़्वाब में आते हैं गले मिलने को,
मैं जो सोता हूँ तो जाग उठती है किस्मत मेरी


---


खुदा से मांगा था इक तोहफा ए-जिंदगी,
और फिर एकदम से तुम मुझे मिले


---


उस शख्स से बस इतना सा ताल्लुक़ है,
वो परेशां हो तो हमें नींद नहीं आती


---


मेरे जज्बात वाकिफ हैं मेरी कलम से,
मोहब्बत लिखता हूं, तो तेरा नाम लिखा जाता है


---


चल रहे हैं जमाने में रिश्बतों के सिल-सिले,
तुम भी कुछ ले दे कर मुझसे मोहब्बत कर लो​


---


हकीकत नहीं तो ख्वाब बनकर मिला करो,
तुम कभी तो चांदनी रात बनकर मिला करो


---


भोली सी अदा कोई फिर इश्क की जिद पर है,
फिर आग का दरिया है और डूब के जाना है


---


खुदा करे जो मोहब्बत तेरे नाम से है,
सदियां गुजर जाने के बाद भी जवां रहे


---


क्या बताऊं यार तुझको प्यार मेरा कैसा है,
चांद सा नही है वो चांद उसके जैसा है


---


मेरी जिंदगी में खुशियां बस तेरे ही बहाने से है,
आधी तुझे सताने और आधी तुझे मनाने से है


---

best new two line shayari


खुदा ही जाने क्यों हाथो पर तुम मेहँदी लगाती हो,
बहुत ना समझ हो फूलों पर पत्तों के रंग चढ़ाती हो


---


बहुत खूबसूरत वो सर्द रातें होती हैं,
जब उनसे दिल की बातें होती हैं


---


मोहब्बत करने की बात हो तो किसी से भी कर लेंगे,
मगर जो मोहब्बत होने की बात है वो तो बस तुमसे है


---


मुट्ठी से फिसलती ही चली गई कहीं रुकी ही नहीं,
अब जाकर महसूस हुआ कि रेत जैसी है ये जिंदगी


---


छू जाते हो तुम मुझे हर रोज एक नया ख्वाब सा बनकर,
ये दुनिया तो खामखां कहती है कि तुम मेरे करीब नहीं


---


ए-जिंदगी आ बैठ कहीं आराम कर ले,
तू भी थक गई होगी मुझे भगाते-भगाते


---


उसकी मोहब्बत लाख छुपाई ज़माने से मैंने,
मगर आँखों में उसके अक्स को छुपा न सका


---


थमती नहीं है जिंदगी यहां किसी के बिना,
पर गुजरती भी नहीं है अपनों के बिना


---


मेरी बाहों में बहकने की सज़ा भी सुन ले,
अब बहुत देर में मैं आजाद करूँगा तुझको


---


जिंदगी का इतना तजुर्बा तो नहीं है मुझे,
पर सुना है सादगी में लोग जीने नहीं देते


---


लबो पर लफ्ज़ भी अब तेरी तलब लेकर आते हैं,
तेरे जिक्र से महकते हैं तेरे सजदे में बिखर जाते हैं


---


थोड़ा आहिस्ता चल ए-जिंदगी,
अभी मेरे कुछ ख्वाब अधूरे हैं


---


काश इक दिन ऐसा भी आये हम तेरी बाहों में समा जाएँ,
सिर्फ हम हो और तुम हो और वक्त ही ठहर जाए


---


जिंदगी बदलने में कई बार वक्त नहीं लगता,
कभी-कभी वक्त बदलने में जिंदगी गुजर जाती है


---


तेरे खामोश होठों पर मोहब्बत गुन गुनाती है,
तू मेरी है मैं तेरा हूँ बस यही आवाज़ आती है


---


अपनी जिंदगी की बस यही कहानी,
कुछ खुद बर्बाद हुए और कुछ उनकी मेहरबानी।


---



दिल के बाज़ार में दौलत नही देखी जाती
प्यार अगर हो जाये तो सूरत नही देखी जाती


---


अकेले ही गुजर जाया करती है जिंदगी,
लोग तसल्ली तो देते हैं पर साथ नहीं


---


सावन की बूंदों में झलकती है उनकी तस्वीर,
आज फिर भीग बैठे हैं उन्हें पाने की चाहत में


---


हम भी कुछ प्यार के गीत गाने लगे हैं,
जब से ख़्वाबों में मेरे वो आने लगे हैं


---


रूठ गया वो खुदा भी हमसे
जब हमने अपनी हर दुआ में आपको मागा


---


हँसते हुए तुझको जब भी देखता हूँ मैं,
तू ही दुनिया है मेरी यही सोचता हूँ मैं


---


वो तो शायरों ने लफ्जो से सजा रखा है,
वरना मोहब्बत इतनी भी हसीँ नही होती


---


एक उमर बीत चली है तुझे चाहते हुए,
तू आज भी बेखबर है कल की तरह


---


प्यार मोहब्बत आशिकी.ये बस अल्फाज थे.
मगर.. जब तुम मिले तब इन अल्फाजो को मायने मिले


---


अपनी मोहब्बत पे इतना भरोसा तो है मुझे,
मेरी वफायें तुझे किसी और का होने न देंगी


---


समझता ही नहीं वो मेरे अलफ़ाज़ की गहराई
मैंने हर लफ्ज़ कह दिया जिसे मोहब्बत कहते है


---


अपने जैसी कोई तस्वीर बनानी थी मुझे
मेरे अंदर से सभी रंग तुम्हारे निकले


---


दिल में दर्द है आँखों में बेकरारी है,
हमें लगी इश्क की अजीब बिमारी है


---

दिल की खिड़की से बाहर देखो ना कभी
बारिश की बूँदों सा है एहसास मेरा


---


हमने देखा था खुद को तेरी सूरत में
आईना देख कर अब रात कट जाती हैं


---


मत पूछ वजह की क्यू
चाहती हूँ तुझे
क्योंकि साचा इश्क वजह से नहीं
बेवजह होता है


---


मुस्कुरा जाता हूँ अक्सर गुस्से में भी तेरा नाम सुन कर,
तेरे नाम से इतनी मोहब्बत है तो सोच तुझसे कितनी होगी




Post a Comment

0 Comments